Valentine Day kyu manaya jata hai Hindi me वेलेंटाइन डे क्यों मनाया जाता है।

नमस्कार साथियों आज हम बात करेंगे 14 फरवरी वैलेंटाइन डे के बारे में ।साथियों वैलेंटाइन डे को ऐतिहासिक रूप से देखा जाए तो 1260 में संकलित की गई पुस्तक ऑरिया ऑफ जैकोबस डी वाराजिन के अनुसार तीसरी शताब्दी में रोम में सम्राट क्लॉडियस का शासन था। और सम्राट क्लॉडियस रोम को सुदृढ़ करने के लिए एक बड़ी सेना खड़ी करना चाहते थे। लेकिन रोम की जनता में जिन लोगों के बीवी -बच्चे यानी परिवार थे वह सेना में शामिल नहीं होना चाहते थे। तो इस समस्या से निपटने के लिए सम्राट क्लॉडियस ने एक आदेश जारी किया कि मेरे शासनकाल में कोई विवाह नहीं करेगा।लेकिन रोम में रह रहे संत वैलेंटाइन ने उनके इस क्रूर आदेश का विरोध किया ।व संत वैलेंटाइन के आवाह्न पर वहां के अनेक लोगों ने विवाह किया। व सम्राट क्लॉडियस के आदेश को नहीं माना। तो सम्राट क्लॉडियस ने उनका आदेश न मानने के कारण संत वेलेंटाइन को 14 फरवरी 269 को फांसी पर चढ़ा दिया। तभी से उनकी याद में हर साल 14 फरवरी को वैलेंटाइन डे के रूप में मनाया जाता है ।लेकिन साथियों हमारी मां भारती की धरा पर तो फलते फूलते घर परिवार हैं। जिनमें दादा -दादी ,माता -पिता , बेटा बेटी ,पति -पत्नी ,भाई -बहन व अन्य पारिवारिक रिश्तो में एक दूसरे की देखभाल व मैत्रीपूर्ण प्यार से रहने व नागरिकों में अपने देश के लिए मर मिटने व घर परिवारों को छोड़ सबसे पहले देश सेवा के लिए आगे रहने का जज्बा है। लेकिन तेज रफ्तार से बदल रहे समय में इस मां भारती की जमीन पर भी महज वैलेंटाइन डे के इस दिन पर बिना इसके इतिहास को जाने एक दिन के लिए प्यार का दिखावा कर रिश्तो को खोखला करने की कोशिश की जाती है। जिसकी हमारी भारत भूमि पर जरूरत ही नहीं है ।

धन्यवाद ।जय हिंद जय भारत।

इसका वीडियो को देखने के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक करें।https://youtu.be/rYhlPiuz0tg

Updated: August 22, 2019 — 6:49 pm

The Author

लेखक:- सविता रामभरोसे

नमस्कार वेबसाइट बाल संसार हिंदी में आपका स्वागत है।सविता जी जिन्होंने हिंदी विषय से  स्नातकोत्तर व बीएड की डिग्री अर्जित की है।श्री रामभरोसे जी ऐसे हैं। भई रामभरोसे 1998 में किसी तरह दसवीं कर पाये ,2006 में 12वीं कर आये, 2012 में स्नातक कर पाये, 2014 में अंग्रेजी साहित्य से स्नातकोत्तर की डिग्री ले आये। आर्टिकल में सब लिखने के बाद सविता जी से चेक करवाये बाल संसार हिंदी के वेब डेवलपर कंटेंट राइटर लेखक सभी की भूमिका यह अकेले ही निभाये। बस इतना ही है। कि आप इनके नाम से परिचित हो जाएं रामभरोसे समझकर इनका साथ निभाएं धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *