Speech for father’s day

साथियों हर वर्ष विश्व भर में जून महीने के तीसरे रविवार को फादर्स डे मनाया जाता है।साथियों हम अपने पापा, वालिद ,पिताजी के त्याग व अपने परिवार व बच्चों को सदैव महफूज रख स्वयं जिम्मेदारियों का बोझ ढोकर खुशियों की इमारत खड़ी कर रहे उस पिता को महज एक फादर्स डे के दिन ही महत्व ना देकर उन्हें क्षण- क्षण याद रखना चाहिए ।क्योंकि हमारे शरीर में दौड़ रहा खून का हर एक कतरा- कतरा उस पिता की ही देन होता है। पिता के ही कारण इस जहां में हमारा अस्तित्व है। जब हमें पहला कदम भी रखना नहीं आता तब पापा की उंगली पकड़कर ही हम अपना पहला कदम रखते हैं। तब नन्हें पैरों के लिए पापा ही सहारा बनते हैं। दिन रात मेहनत कर पापा बच्चों के लिए ही जीते मरते हैं। बस अपने बच्चों की खुशियों के लिए अपने सुखों को हरते हैं। जो जीवन भर अपना फर्ज निभाते हैं ।अपने बच्चों की खुशी के लिए अपने सुख भूल जाते हैं। कभी कंधे पर बिठा सैर कराते हैं, तो कभी घोड़ा बनकर घूमाते हैं। कभी हमारे लिए धरती तो कभी आसमान बन जाते हैं पिता। हमारी जरूरतों के लिए मांअगर बेच देती है गहनें, तो जो अपने आपको बेच दे वो व्यापारी कहलाते हैं पिता ।हमारा साहस ,हमारी इज्जत, हमारा सम्मान होते हैं पिता। हमें हिम्मत देने वाले हमारा अभिमान है पिता। शायद हमारे लिए उस रब का बलिदान है। पिता अगर साथियों हकीकत में देखा जाए तो हमारे लिए भगवान है पिता ।एक अमिट कभी ना भूल पाने वाली कहानी होते हैं पिता।साथियों पिता के लिए जितने शब्द बोले जाए वह कम है। इसीलिए इन्हीं शब्दों के साथ मैं मेरी वाणी को विराम देती हूं। हैप्पी फादर्स डे। जय हिंद जय भारत।

इस भाषण का वीडियो देखने के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक करें।https://youtu.be/zTm-OfD_0Eo

The Author

लेखक:- सविता रामभरोसे

नमस्कार वेबसाइट बाल संसार हिंदी में आपका स्वागत है।सविता जी जिन्होंने हिंदी विषय से  स्नातकोत्तर व बीएड की डिग्री अर्जित की है।श्री रामभरोसे जी ऐसे हैं। भई रामभरोसे 1998 में किसी तरह दसवीं कर पाये ,2006 में 12वीं कर आये, 2012 में स्नातक कर पाये, 2014 में अंग्रेजी साहित्य से स्नातकोत्तर की डिग्री ले आये। आर्टिकल में सब लिखने के बाद सविता जी से चेक करवाये बाल संसार हिंदी के वेब डेवलपर कंटेंट राइटर लेखक सभी की भूमिका यह अकेले ही निभाये। बस इतना ही है। कि आप इनके नाम से परिचित हो जाएं रामभरोसे समझकर इनका साथ निभाएं धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *