balsansarhindi.com

नॉलेज हिन्दी व अंग्रेजी में

Category: कविताएं POEMS

poem on father’s day

साथियों एक पिता के घर आंगन में पिता रूपी वटवृक्ष की छाया में पल बड़ी होने के बाद शादी कर पराई हुई लड़की की व्यथा को दर्शाती यह कविता: पापा यह नन्ही सी बच्ची आपके घर आंगन में पली-बढ़ी, आज आपकी यह बच्ची बढ़कर आपसे इतनी दूर खड़ी। पापा आप ने सिखलाया था यह दुनिया […]

बालसंसार हिन्दी © 2018 Frontier Theme
balsansarhindi.com